मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

मानवता बरकरार रखना ही मूल्यानुगत पत्रकारिता: शर्मा

January 14, 2018

लोगों को अपनी यह मानसिकता बदलनी होगी

नयी दिल्ली/ राष्ट्रीय पुस्तक न्यास (NBT) के अध्यक्ष बलदेव भाई शर्मा ने “मूल्यानुगत मीडिया समय की आवश्यकता”  विषय पर आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में आज कहा कि विचारों और मानवता को बरकरार रखना ही मूल्यानुगत पत्रकारिता है,  इससे इतर पत्रकारिता हो ही नहीं सकती। राष्ट्रीय राजधानी के प्रगति मैदान में रायपुर के कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय द्वारा इस  विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित की गई थी। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि पत्रकारिता बहुत ही मुश्किल कार्य है और यह कार्य मूल्यविहीन नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि पत्रकारों का उद्देश्य सिर्फ धन कमाना ही नहीं होना चाहिए, बल्कि उन्हें देश और समाज को जोड़ने की कोशिश करनी चाहिए।

वहीं संगोष्ठी में इंदिरा कला केंद्र के सदस्य सचिव सच्चिदानंद जोशी ने कहा कि मूल्यों से हटकर पत्रकारिता नहीं हो सकती,  क्योंकि पत्रकारों के पास इसके लिए कोई गुंजाइश नहीं होती। उन्होंने कहा कि आम लोगों को यह समझना होगा कि पत्रकार निष्पक्ष होकर कैसे दायित्व को निभा पाएगा? उन्होंने कहा अगर किसी समाचार पत्र की लागत 30 रुपये है और संस्थान उसे तीन रुपये में बेच रहा है, तो वह अपने पैसे कमाने के लिए दूसरे रास्ते अपनाएगा। दुर्भाग्य की बात है कि जब कोई संस्थान समाचार पत्र का मूल्य बढ़ाता है, तो लोग उसे छोड़ कर दूसरा समाचार पत्र लेना शुरू कर देते हैं। उन्होंने कहा कि अगर पत्रकारिता के मूल्यों को बरकरार रखना है तो लोगों को अपनी यह मानसिकता बदलनी होगी।

Go Back

Comment