मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

“आंचलिक समाचार पत्रों की लोकतंत्र में भूमिका” पर परिचर्चा आयोजित

हिन्दी साप्ताहिक समाचार पत्र हमारा पूर्वांचल की वर्षगांठ पर साहित्यिक परिचर्चा और सम्मान समारोह का आयोजन, लाल बिहारी लाल एवं संजय कुमार गिरि पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए सम्मानित 

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली से प्रकाशित हिन्दी साप्ताहिक समाचार पत्र हमारा पूर्वांचल के दो वर्ष पूरे होने के अवसर पर गांधी शांति प्रतिष्ठान में एक साहित्यिक परिचर्चा एवं सम्मान समारोह का आयोजन वरिष्ठ पत्रकार पद्दमश्री रामबहादुर राय की अध्यक्षता में कल किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत अतिथियों द्वारा दीप प्रज्ज्वलन के बाद माँ शारदे की वंदना साहित्यकार शिव प्रभाकर ओझा के मधुर कंठ द्वारा की गई ।

इस परिचर्चा का विषय था- "आंचलिक समाचार पत्रों की लोकतंत्र में भूमिका "। इसकी शुरुआत प्रो. पी.एन. पाठक ने किया औऱ कहा कि अब राष्ट्रीय समाचार पत्र भी आंचलिक संस्करण निकालने लगे है ऐसे में आंचलिक पत्रों की महता काफी बढ़ रही है। वही प्रो. एवम् आर्थिक मुद्दों के व्यंगकार आलोक पौरानिक ने कहा कि समाचार पत्रों में सूचना ,मनोरंजन एवं ज्ञान का समावेश आंचलिक पत्र पत्रिकाओ में काफी प्रचूर मात्रा में देखा जा सकता है जो समाज एवं देश निर्माण में इनका अपना अलग महत्व है। प्रो. अनिल कुमार ठाकुर ने कहा कि जिस तरह मंदिर में हैलोजन के बजाये दीये का महत्व है इसी तरह लोक तंत्र में आंचलिक समाचार पत्रों की भूमिका है। जे.एन.यू. के प्रोफेसर आनंद कुमार ने कहा कि हमारा पूर्वांचल को सजग प्रहरी बनना होगा और जिसका कोई नही सूने उसकी आवाज बनना होगा तभी आंचलिक पत्रो की सार्थकता सिद्ध हो पायेगी। वरिष्ठ पत्रककार एवं राज्य सभा टी.वी. चैनल के राष्ट्रीय ब्यूरो अरविन्द कुमार सिंह ने भी आंचलिकता पर बल दिया। 

इस अवसर पर हमारा पूर्वांचल की ओर से कुछ लेखकों एवं पदाधिकारियों को अतिथियों द्वारा सम्मानित भी किया गया। जिसमें दिल्ली ब्यूरो –लाल बिहारी लाल, गुड़गांव ब्यूरो संजय गिरि, गीता सिंह,पटना से चंदन कुमार,संतोष पटेल, जय शंकर दिवेदी,अंजनी कुमार तिवारी ,सौरभ वर्मा आदी को पद्दमश्री रामबहादुर राय( पद्मश्री से अलंकारित भारतीय पत्रकारिता के पुरोधा यथावत के संपादक) के कर कमलो द्वारा साहित्यिक योगदान देने के लिए प्रशस्ति पत्र एवं पुष्पगुच्छ ,देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम अध्यक्षीय भाषण में प्रो. राम बहादुर राय ने कहा कि खबरो का चयन ठीक से करे तभी समाज का निर्माण हो सकता है हर अखबार अपने आप में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय होता है साथ ही साथ सभी राष्ट्रीय समाचार पत्र आज आंचलिक संस्करण निकाल रहे है अपने पाठको को ध्यान में रखकर यह खुशी की वात है । इससे लोकतंत्र अवश्य ही मजबूत होगा। कार्यक्रम का संचालन प्रो.सुधीर के रिन्टन ने किया। इस अवसर पर भवानी शंकर शुक्ल,जीतेन्द्र तिवारी, प्रो.हवलदार शास्त्री सहित कई गन्य मान्य मौयूद थे। 

हमारा पूर्वांचल के मुख्य संपादक रामाधार पाण्डेय ने सभी अतिथियों का स्वागत पुष्प गुच्छ देकर किया औऱ सभी गन्य मान्य ब्यक्तियों का हार्दिक धन्यवाद दिया।

Go Back

बहुत बहुत धन्यवाद।
संपादक महोदय जी को खबर प्रकाशित करने के लिए।

Reply


Comment