मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

देश के लिए चुनी गई दस प्राथमिकताएं

57 लाख से अधिक लोगों ने नेशनल एजेंडा फोरम की वोटिंग प्रक्रिया में हिस्सा लिया

नई दिल्ली/  57 लाख से अधिक लोगों ने नेशनल एजेंडा फोरम (NAF) की वोटिंग प्रक्रिया में हिस्सा लिया और इस प्लेटफॉर्म के जरिए समकालीन भारत के लिए एजेंडा तय किया। पूरे NAF इकोसिस्टम के सामूहिक प्रयास से NAF सफल हुआ, जिसमें सबसे बड़ा योगदान 1 लाख से अधिक पार्ट टाइम एसोसिएट्स (PTA) का था, जिन्होंने हमारे साथ मिलकर देश का एजेंडा चुनने के इस अभियान में अहम योगदान दिया।

महात्मा गांधीजी के 150वीं जयंती वर्ष के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमिटी (I-PAC) ने नेशनल एजेंडा फोरम (NAF) लॉन्च किया है। NAF गांधीजी के 18-सूत्रीय रचनात्मक कार्यक्रम पर चर्चा को पुनर्जीवित करने और इस चर्चा के ज़रिए देश की प्राथमिकताओं को पुनर्कल्पित और सहनिर्मित कर, समकालीन भारत के लिए क्रियान्वयन योग्य एजेंडा तैयार करने का एक प्रयास है। NAF देश के नागरिकों को 4 कार्य-बिन्दुओं के लिए एकजुट करने के उद्देश्य से लॉन्च किया गया है- 1. सोच को आगे बढ़ाना 2. एजेंडा तय करना 3. नेता चुनना 4. राष्ट्र के लिए अभियान करना।

NAF को देश के 530 जिलों के 1,788 कॉलेजों के 25,000 से अधिक युवा एसोसिएट्स ने मिलकर 29 जून 2018 को लॉन्च किया था। दो महीने की वोटिंग प्रक्रिया के दौरान 57 लाख लोगों ने इसमें हिस्सा लिया। NAF को सामाजिक संगठन, मशहूर टीवी एवं फिल्म सेलिब्रिटी, स्पोर्ट्स चैंपियन, पद्म पुरस्कार विजेता, प्रतिष्ठित गांधीवादी, कई शख़्सियतों एवं 1 लाख से अधिक युवा एसोसिएट्स समेत हर वर्ग का समर्थन मिला।

पिछले दो महीने के दौरान, NAF ने ऑनलाइन हिस्सेदारी के अलावा निम्नलिखित कार्यक्रम किएः

84 जिलों के 777 कॉलेजों में NAF फील्ड डायलॉग का आयोजन किया गया

यूनेस्को-एमजीआईईपी के साथ मिलकर हैदराबाद और चेन्नई में 2 इंस्टा-मीट का आयोजन किया गया

5,000 डब्बावालों ने NAF का समर्थन किया और NAF का टैग लगाकर 20,000 टिफिन पहुंचाए

आखिर में, I-PAC ऑफिस में 6 प्रतिष्ठित शख़्सियतों की मौजूदगी में NAF डायलॉग (वेबीनार) का आयोजन किया गया

 

नेशनल एजेंडा फोरम का परिणाम निम्नलिखित हैः

लोगों द्वारा देश के लिए चुनी गई 10 प्राथमिकताएं :

महिलाएं: महिलाओं का सामाजिक, राजनीतिक एवं आर्थिक सशक्तिकरण इस आधार पर सुनिश्चित करना कि पुरुष और महिला समान अधिकार वाले सहभागी हैं।

किसान: किसानों के हितों की रक्षा करना और राजनीतिक उद्देश्यों के लिए उनका शोषण किए बिना आत्मनिर्भर बनने में उनकी सहायता करना।

आर्थिक समानता: संपोषणीय वृद्धि एवं विकास सुनिश्चित करना, आर्थिक असमानता को कम करना तथा मानवीय दृष्टिकोण के साथ समान विकास को प्रोत्साहित करना।

विद्यार्थी: युवाओं के लिए एक ऐसा वातावरण विकसित करना जिसमें वो राष्ट्र निर्माण में अर्थपूर्ण भागीदारी एवं निरंतर प्रभावी योगदान दे सकें।

आरोग्य के नियमों की शिक्षा: नागरिकों में स्वयं और समाज हेतु स्वच्छ जल, भोजन एवं शुद्ध वायु की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए उन्हें ज्ञान एवं व्यवहार के माध्यम से सशक्त करना।

सांप्रदायिक एकता: अन्य समुदाय एवं मत के लोगों से व्यक्तिगत मित्रता एवं परस्पर सम्मान पर आधारित राष्ट्रीय एकता एवं सांप्रदायिक सौहार्द्र को सुनिश्चित करना।

प्रान्तीय भाषाएं: नागरिकों की समझ एवं प्रभावी संवाद की क्षमताओं को बढ़ाने के लिए भारतीय भाषाओं के प्रयोग को प्रोत्साहित करना।

नई या प्रारंभिक शिक्षा: बच्चों को 'आदर्श नागरिक' बनाना एवं उन्हें भारतीय संस्कृति तथा उसकी वास्तविकताओं पर आधारित शिक्षा के माध्यम से उज्ज्वल भविष्य की ओर ले जाना।

ग्राम्य स्वच्छता: मानवीय निवास स्थलों को “स्वच्छता के मॉडल” के रूप में विकसित कर सफाई की भावना को मजबूत करना एवं खुले में शौच की प्रथा को समाप्त करना।

प्रौढ़ शिक्षा: अज्ञानता दूर करने, वैश्विक नजरिए का दायरा बढ़ाने और रोजगार क्षमताओं को बढ़ाने वाले कौशल अर्जित करने के लक्ष्य से सतत शिक्षा का समर्थन करना।

जनता के एजेंडे को अपनाने एवं अमल में लाने योग्य प्रमुख नेताः

2 प्रमुख नेताः

नरेंद्र मोदी

राहुल गांधी

 

4 प्रमुख मुख्यमंत्री

अरविंद केजरीवाल

ममता बनर्जी

नवीन पटनायक

नीतीश कुमार

 

नोटः परिणाम जनता के एजेंडे को अपनाने एवं अमल में लाने योग्य नेता के लिए मतदाताओं की पसंद को दर्शाता है, न कि उनकी लोकप्रियता को।

पूरा परिणाम देखने के लिए https://www.indianpac.com/naf/ पर लॉग इन करें।

अगला कदमः

आगामी कुछ महीनों में I-PAC, NAF इकोसिस्टम के सहयोग एवं राष्ट्र के लिए अभियान का विकल्प चुनने वाले 1 लाख से अधिक युवा एसोसिएट्स के साथ मिलकर –

जनता के एजेंडे को लोगों के बीच ले जाएगा, खासतौर पर युवाओं के बीच में, जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि गांधीवादी आदर्शों में निहित देश की प्रमुख प्राथमिकताओं को लेकर लोगों में जानकारी हो और लोग इसमें सम्मिलित रहें।

I-PAC भविष्य में जिस भी राजनीतिक दल के साथ काम करेगा, उस पार्टी के घोषणा-पत्र में जनता के एजेंडे को शामिल करवाना सुनिश्चित करेगा।

इसके अलावा, लोगों ने 10 ऐसे गैर-राजनीतिक लोगों को नामांकित किया, जिन्हें वे सक्रिय राजनीति में देखना चाहेंगे- (नाम, क्रमानुसार है)

अक्षय कुमार

अन्ना हजारे

आमिर खान

एमएस धोनी

कैलाश सत्यार्थी

बाबा रामदेव

रघुराम राजन

रतन टाटा

रवीश कुमार

सौरव गांगुली

Go Back

Comment