मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts November 2013

सोशल मीडिया के दौर में भटकाव मुश्किल:दिलीप मंडल

 पटना पुस्तक मेला 2013 में ‘‘ पत्रकारिता और साख का संकट’’ विषय  पर जनसंवाद

पटना । इंडिया टुडे के मैनेजिंग एडिटर और वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल ने आज कहा कि उपभोक्ताओं के लिए स्वर्…

Read more

पत्रकारों को भारतीय प्रेस परिषद पुरस्कार

राष्ट्रीय प्रेस दिवस के मौके पर उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने 17 पत्रकारों को पुरस्कार दिए

नई दिल्ली। सत्रह पत्रकारों को भारतीय प्रेस …

Read more

नहीं रहे ओमप्रकाश वाल्मीकि

चर्चित लेखिका अनीता भारती ने अपने फेसबुक वाल पर खबर दी है कि ..अभी अभी देहरादून से संदेश आया है कि प्रसिद्ध साहित्यकार ओमप्रकाश बाल्मीकि जी का आज सुबह परिनिर्वाण हो गया है। उनके निधन पर मीडियामोरचा श्रद्धांजलि अर्पित करता है। ओमप्रकाश बाल्मीकि पर हाल ही में लिखा कँवल भारती का आलेख.....…

Read more

देश भर में मना राष्ट्रीय प्रेस दिवस

पटना में ‘जनहित सेवा में मीडिया की भूमिका’ विषय पर संगोष्ठी को बिहार के सचूना मंत्री श्री वृशिण पटेल ने संबोधित किया …

Read more

जातिवाद मीडिया में देखी .... मजा आ गया!

लालजी निर्मल ।   अरे भैया निर्मल जी मैंने मीडिया के चक्कर में पड़कर पुणे, महाराष्ट्र से लखनऊ आया लेकिन वो गंदगी और जातिवाद मीडिया में देखी कि की मजा आ गया.…

Read more

सब्जी बाज़ार में मिले दीनानाथ जी...और कहा - तरकारी में बज्जर पड़ा रे !

वरिष्ठ पत्रकार दीनानाथ मिश्र जी की मृत्यु, नवभारत टाइम्स, पटना संस्करण के प्रथम स्थानीय संपादक रहे थे वो 

नवेन्दु…

Read more

क्योंकि नट्टिन की आँख में अजगर का आकर्षण था !

‘मैनाघाट के सिद्ध एवं अन्य कथाएँ’ पर विमर्श 

पटना / पटना प्रगतिशील लेखक संघ ने वरिष्ठ साहित्यकार हरिशंकर श्रीवास्तव ‘शलभ’ द्वारा रचित ‘मैनाघाट के सिद्ध एवं अन्य कथाएँ’ पर विमर्श आयोजित किया। शुभारंभ करते हुए साहित्यका…

Read more

चिंघाड़ने वाला मीडिया आज चुप क्यों है?

पटना ब्लास्ट पर चिंघाड़े मारने वाले चैनल व कलम तोड़ कर लिखने वाले अखबार आज चुप हैं

इर्शादुल हक/ आप कह सकते हैं कि मैं मुगालते में हूं. और मीडिया की य…

Read more

पत्रकारो के लिये बन रही महत्वकांक्षी योजना

समस्तीपुर। बिहार के सूचना और जन सम्पर्क मंत्री वृशिन पटेल ने कहा है कि राज्य के पत्रकारों की सुविधा के लिए सरकार एक महत्वाकांक्षी योजना तैयार कर रही है।…

Read more

हमने लोकजीवन के दुर्लभ रचनाकार को खो दिया है

विजयदान देथा का निधन एक बड़ा आघात 

कौशल किशोर / कथाक्रम के कार्यक्रम से लौटा ही था कि राजस्थानी भाषा के रचनाकार विजयदान देथा के निधन की खबर मिली। धक्का सा लगा। एक दुख से हम उबर भी नहीं पा रहे हैं कि  दूसरा दुख चोट करने को तैय…

Read more

पेड-न्यूज बनाम बिकी हुई खबर

मनोज कुमार / पत्रकारिता अपने आरंभ से ही आरोपों से घिरी रही है। पत्रकारिता पर यह आरोप उसके कार्यों को लेकर नहीं बल्कि पत्रकारिता की सक्रियता से जख्मी होते लोग आरोप लगाते रहे हैं। पत्रकारिता पर जैसे-जैसे आरोप तेज होता गया, पत्रकारिता उतनी ही धारदार होती गयी। किसी समय में पत्रकारिता प…

Read more

बदलाव के बाईस बरस पर मीडिया विमर्श का दूसरा अंक

मीडिया विमर्श अपने दिसंबर -2013 के अंक के साथ आठवें साल में प्रवेश कर रही है। एक वैचारिक त्रैमासिक के रूप में मीडिया प्राध्यापकों,छात्रों और मीडिया प्रोफेशनल्स के बीच पत्रिका की एक खास पहचान बन चुकी है। पत्रिका का यह अंक भी भूमंडलीकरण के प्रभावों का आकलन कर रहा है। इस अंक थीम है - 'बदलाव के बाईस बरस…

Read more

असम रेप फेस्टिवल' की खबर झूठी

NationalReport.net पर इस खबर के छपने के बाद मचा बवाल, जबरदस्त विरोध

भारत में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर एक अमेरिकी वेबसाइट पर प्रकाशित खबर से बवाल मच गया है. तथाकथित व्यंग्य वेबसाइट पर 3 नवंबर को छपी इस खबर का शीर्षक है- '…

Read more

तम्बाकू के दुष्प्रभावों से लोगों को सचेत करने में मीडिया की अहम भूमिका

बिहार के स्वास्थ्य सचिव और राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यकारी निदेशक, श्री संजय कुमार ने तंबाकू नियंत्रण अधिनियम के अन्तर्गत विहित प्रतिबंध एवं दण्डात्मक प्रावधानों से लोगों को अवगत कराने एवं जन-जागरूकता में मीडिया संगठनों के भी प्रतिनिधियों के योगदान का आह्वान किया…

Read more

पूंजी ने खरीदा सम्पादक का अधिकार

क्या आप एक ऐसे विज्ञापन की कल्पना कर सकते हैं जिसकी यह शर्त हो कि अखबार का सम्पादक खबरों की प्राथमिकता तय नहीं करेगा? …

Read more

बसंत कुमार तिवारीः स्वाभिमानी जीवन की पाठशाला

संजय द्विवेदी/ छत्तीसगढ़ के जाने-माने पत्रकार और ‘देशबंधु’ के पूर्व संपादक बसंत कुमार तिवारी का न होना जो शून्य रच है उसे लंबे समय तक भरना कठिन है। वे एक ऐसे साधक पत्रकार रहे हैं, जिन्होंने निरंतर चलते हुए, लिखते हुए, धैर्य न खोते हुए,परिस्थितियों के आगे घुटने न टेकते हुए न…

Read more

नहीं रहे प्रख्यात साहित्यकार डा. परमानन्द श्रीवास्तव

लखनऊ में शोकसभा कल 

कौशल किशोर / हम अभी कथाकार व ‘हंस’ के संपादक राजेन्द्र यादव तथा व्यंग्य लेखक के पी सक्सेना के बिछुड़ जाने के दुख से उबरे भी नहीं थे कि जाने माने कवि व वरिष्ठ आलोचक डा0 परमानन्द श्रीवास्तव के निधन ने उदासी को और गहरा कर दिया है। पिछ…

Read more

वयोवृद्ध महिला पत्रकार सावित्री देवी नहीं रहीं

हिन्दी दैनिक ‘ प्रदीप‘ के लिए मुंगेर जिला संवाददाता के रूप में वर्ष 1965 से 1986 तक कार्यरत थीं

मुंगेर। मुंगेर की वयोवृद्ध महिला पत्रकार सावित्री देव…

Read more

बिहार के अखबार: मोदी के कदमों में रख दिया सर

2 नवम्बर को नरेंद्र मोदी बिहार में थे.इस दिन यूपी के सीएम भी यहीं थे.पर बिहार के हिंदी अखबारों ने अखिलेश की खबर को अछूत सा बना दिया जबकि मोदी को सर आंखों पर बिठाया.आखिर कैसे -…

Read more

राजा राम मोहन राय उत्कृष्ट पत्रकारिता पुरस्कार संतोष कुमार को मिलेगा

भारतीय प्रेस परिषद की ओर से दिया जाने वाला है राजा राम मोहन राय उत्कृष्ट पत्रकारिता पुरस्कार 

नई दिल्ली। भारतीय प्रेस परिषद की …

Read more

20 blog posts